Advertisements

मुख्यमंत्री ने की 134 तीर्थ स्थलों के जीर्णोद्धार की घोषणा









Chandigarh, 28 Sep, 2018 NewsRoots18
धर्मनगरी कुरुक्षेत्र की 48 कोस की परिक्रमा में पडऩे वाले तीर्थ स्थलों के विकास एवं  जीर्णोद्धार  में शुक्रवार को उस समय एक नया अध्याय जुड़ गया जब हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कुरुक्षेत्र, करनाल, कैथल, पानीपत व जींद समेत पांच जिलों के महाभारत, रामायण व वामन पुराण में वर्णित 134 तीर्थ स्थलों के जीर्णोद्धार की घोषणा की। उन्होंने करनाल जिले के 13 तीर्थ स्थलों का एकसाथ दौरा कर इनमें कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड के माध्यम से लगभग 18.39 करोड़ रुपये के विकास कार्यों की घोषणा की।

  हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने शुक्रवार को करनाल जिले के विमलसर तीर्थ सग्गा से अपने इस दौरे की शुरूआत की। इस अवसर पर लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि आज उनके जीवन का ऐतिहासिक दिन है। उन्हें महाभारतकाल से जुड़े तीर्थ स्थलों का दौरा करने का सौभाग्य मिला है। उन्होंने कहा कि जो समाज अपनी सांस्कृतिक धरोहर को संजोए रखता है वह युवा पीढ़ी को अच्छे नैतिक संस्कार देता है। उन्होंने कहा कि हरियाणा का गौरवमयी इतिहास है।  उन्होंने कहा कि वर्ष 2016 से हरियाणा सरकार ने गीता महोत्सव को अंतर्राष्ट्रीय पहचान दिलाई है।  मुख्यमंत्री   ने कहा कि सभी तीर्थ स्थलों में महिमा पट्ट, शौचालय, महिलाओं के लिए अलग से घाट, भक्तजनों की सुविधा के अनुसार सीढिय़ों का निर्माण, सरोवरों में जल निकासी के प्रावधान के साथ-साथ चारदीवारी, पार्किंग व्यवस्था तथा हाईमास्क लाईटें लगवाई जाएंगी। 

मुख्यमंत्री  ने कहा कि कुरुक्षेत्र जिले में पडऩे वाले 14 तीर्थ स्थलों के जीर्णोद्धार की घोषणा पहले ही की जा चुकी है। आज करनाल के तीर्थ स्थलों की घोषणा हुई है और शीघ्र ही पानीपत, कैथल व जींद जिलों में पडऩे वाले तीर्थ स्थलों के भी जीर्णोद्धार की घोषणा की जाएगी जिसके लिए शीघ्र ही वे इसी प्रकार का दौरा करेंगे। उन्होंने कहा कि कुरुक्षेत्र जिले में श्रद्धालुओं को इन तीर्थ स्थलों का भ्रमण करवाने के लिए 2 बसें चलाई जा रही हैं। उन्होंने कहा कि कुरूक्षेत्र व जींद के बीच दो विशेष बसें चलाई जाएंगी जो दो दिन तीर्थ यात्रियों को 48 कोस की परिधि में पडऩे वाले पांचों जिलों के तीर्थ स्थलों का भ्रमण करवाएंगी, जिसकी शुरूआत कुरूक्षेत्र से की गई है।

Post a Comment

0 Comments