Advertisements

स्वच्छ हवा में देश में दूसरे नंबर पर ताजनगरी, बीते सप्ताह अव्वल भी रही







Parvider Rajput Agra, 23 Sep, 2018 NewsRoots18
आगरा ताजनगरी के उधोगों  पर प्रदूषण फैलाने का आरोप लगाकर कई प्रतिबंध लगाए गए हैं लेकिन धूल कणों को छोड़ दें तो प्रदूषणकारी तत्व मानक से भी कम हैं। मानसून में जोरदार बारिश के कारण धूल कण बैठे तो आगरा देशभर में स्वच्छ हवा के मानक में दूसरे नंबर पर रहा। बीते सप्ताह आगरा सिलीगुड़ी के साथ पहले नंबर पर रहा है। 


पर्यावरण मंत्रालय ने एडहॉक मोरोटोरियमए व्हाइट कैटेगरी और ताज ट्रिपेजियम जोन अथारिटी ने प्रदूषण के लिए उधोगों को जिम्मेदार मानते हुए कई प्रतिबंध लगाए हुए हैं। औधोगिक संगठन पुरजोर विरोध कर चुनौती भी दे चुके हैं कि तीन दिन के लिए उधोग बंद कर वायु गुणवत्ता का आंकलन कर लिया जाए या फैक्ट्रियों के बाहर मीटर लगा दिया जाए। 

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने आगरा समेत देशभर की वायु गुणवत्ता की सूची जारी की तो स्वच्छ हवा में आगरा दूसरे नंबर पर रहा। शुक्रवार और शनिवार को आगरा की वायु गुणवत्ता 30 रहीए जबकि अलवर और हल्दिया 28 एक्यूआई के साथ देश में पहले नंबर पर रहे। सल्फर डाइक्साइड और नाइट्रोजन डाइक्साइड की मात्रा मानक से कम रहीए जबकि पीएम 2ण्5 कण ही सबसे ज्यादा पाए गए। 

आगरा के उधमयी और पर्यावरण मंत्रालय की कमेटी भी यह स्पष्ट कर चुकी है कि धूल कणों का प्रदूषण आगरा में ज्यादा है। इन पर नियंत्रण कर न केवल आगरा की हवा स्वच्छ की जा सकती है बल्कि ताजमहल को भी बचाया जा सकता है। मानसून के दिनों में अस्थाई पर्यावरण धूल कणों पर नियंत्रण कर पूरे साल स्थाई हो सकता है। 

Post a Comment

0 Comments