Advertisements

बारिश से खराब फसलों की भरपाई जल्द करेगी सरकार,‘मेरी फसल मेरा ब्यौरा’ एप पर किसान डाले फसल की जानकारी







बारिश से खराब फसल पर सुनिए कृषि मंत्री ओपी धनखड़ का बयान

Chandigarh, 24 Sep, NewsRoots18
प्रदेश में पिछले तीन दिन से हो रही लगातार बारिश पर  कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ ने   कहा कि अभी भी लगातार बारिश हो रही है, और विभाग के फील्ड के अधिकारी पूरी नजर रखे हुए हैं। जिन फसलों का नुकसान होगा, उनकी भरपाई सरकार जल्द से जल्द करेगी। जलभराव या अन्य कारणों से जो भी नुकसान होगा, उसका आकलन बारिश रुकने के उपरांत ही किया जा सकेगा।विपक्ष द्वारा किसानों को जानकारी देने के लिए उपलब्ध फार्म  के बारे उठाए जा रहे प्रश्न पर पूछे जाने पर उन्हों  ने कहा कि सरकार किसानो की बेहतरी के लिए सही व्यवस्था से कार्य कर रही है। विपक्ष के पास कोई मुद्दा नहीं है और अनाप-शनाप ब्यानबाजी करना ही उनका कार्य रह गया है।   



 



धान,कपास,बाजरे की खरीद पर कृषि मंत्री ओपी धनखड़ का बयान


 हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ ने प्रदेश के किसानों से अपील की है कि वे खरीफ फसलों, विशेषकर बाजरे की फसल की जानकारी ‘मेरी फसल मेरा ब्यौरा’ नामक एप पर 25 सितम्बर, 2018 की रात्रि, 12 बजे तक अपलोड करें, ताकि 1 अक्तूबर से हो रही सरकारी खरीद के दौरान उन्हें किसी भी प्रकार की परेशानी न हो। कृषि मंत्री सोमवार को चण्डीगढ में  खरीफ खरीद प्रबन्धों को लेकर बुलाई गई अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता करने उपरांत पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे.


कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ ने  सोमवार को चण्डीगढ में  खरीफ खरीद प्रबन्धों को लेकर बुलाई गई अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता की।  पत्रकारों को जानकारी देते हुए उन्हों ने बताया कि उन्होंने कहा कि धान, कपास के अलावा मूंग, मक्का, मोठ की भी सरकारी खरीद की जाएगी। जो भी किसान अपनी उपज लेकर आएगा, उसकी खरीद अवश्य की जाएगी। उन्होंने कहा कि बाजरे की खरीद 1950 रुपये प्रति क्विंटल की दर से की जाएगी और वे चाहते हैं कि राशि सीधे फसल उगाने वाले किसान के पास ही पहुंचे। उन्होंने कहा कि भूमिहीन किसान, जिन्होंने ठेके पर जमीन लेकर जोत की है, वे फार्म में अपने किसी भी बचत बैंक खाते की जानकारी दे सकते हैं। फसली ऋण वाले खाते की जानकारी देना बाजरे की खरीद के लिए जरूरी नहीं है।

Post a Comment

0 Comments