Advertisements

कांग्रेस के 10 और इनेलो के 6 साल के कार्यकाल से कई गुना दी शहीदों के आश्रितों को नौकरी - कैप्टन अभिमन्यु




Chandigarh, 11 Sep, 2018 NewsRoots18
हरियाणा के वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने कहा की भाजपा सरकार के चार साल के कार्यकाल में 230 शहीदों के आश्रितों को सरकारी नौकरी प्रदान की गई है. यह कांग्रेस के दस साल और इनेलो सरकार के 6 साल के समय दी गई नौकरियों से कई गुना ज्यादा है. वित्त मंत्री मंगलवार को हरियाणा विधानसभा में एक चर्चा के दौरान बोल रहे थे. उन्होंने कहा की भाजपा सरकार सैनिकों और शहीद सैनिकों के परिजनों के कल्याण के लिए लगातार निर्णय ले रही है. उन्होंने कहा की केंद्र की भाजपा सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में 40 साल से लटके वन रैंक वन पेंशन का तोहफा देकर भूतपूर्व सैनिकों का मान सम्मान बढाया।

कैप्टन अभिमन्यु ने कहा की मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में हरियाणा की भाजपा सरकार ने निरंतर सैनिकों, पूर्व सैनिकों और शहीद सैनिकों के हित में निर्णय लिए हैं. हरियाणा की भाजपा सरकार ने देश की सीमाओं की रक्षा करने वाले जवानों और उनके परिवारों के लिए लगातार नीतियाँ बना रही है और उन्हें राहत दे रही है. भाजपा सरकार ने युद्ध के दौरान शहीद हुए सेना के जवानों व अर्द्धसैनिक बल के जवानों की अनुग्रह राशि 20 लाख रुपये से बढ़ाकर 50 लाख रूपये और आई.ई.डी. बलास्ट के दौरान शहीद होने पर अनुग्रह राशि 2 लाख रुपये से बढ़ाकर 20 लाख रुपये तथा पुनः बढ़ाकर 50 लाख रूपये की है।


पुलिस कर्मियों की डयूटी के समय शहीद होने अनुग्रह राशि 10 लाख रुपए से बढ़ाकर 30 लाख रुपए की. युद्ध या आतंकवाद तथा अन्य घटना के दौरान घायल हुए सैनिकों को अनुग्रह अनुदान निःशक्तता के आधार पर 50 हजार रुपये की बजाय 5 लाख रुपये, 75 हजार रुपये की बजाय 10 लाख रुपये और एक लाख रुपये की बजाय 15 लाख रुपये की राशि की गई. युद्ध या आतंकवाद तथा अन्य घटना के दौरान घायल हुए अर्द्धसैनिक बलों के जवानों के लिए अनुग्रह अनुदान निःशक्ता के आधार पर 15 लाख रूपये, 25 लाख रूपये तथा 35 लाख रूपये की है. द्वितीय विश्व युद्ध के भूतपूर्व सैनिकों तथा विधवाओं को दी जाने वाली आर्थिक सहायता जो कांग्रेस के समय 3 हज़ार रूपये थी वह अब 10 हज़ार रूपये मासिक है।

 
कैप्टन अभिमन्यु ने कहा की हरियाणा की भाजपा सरकार ने अक्टूबर 2014 से अब तक शहीद सैनिकों के 230 आश्रितों को अनुकम्पा के आधार पर सरकारी नौकरी प्रदान की है. जबकि इनेलो के समय में 66 और कांग्रेस सरकार के समय दस साल में सिर्फ 6 शहीद सैनिकों के आश्रितों और 17 पुलिस कर्मियों के आश्रितों को सरकारी नौकरी प्रदान की गई थी.

Post a Comment

0 Comments