Advertisements

जानिए पानीपत के रंगीले प्रिंसिपल की रोमांटिक बाते




Panipat, 12 Sep, 2018 NewsRoots18
 एक शिक्षक वह भी प्रिंसिपल के पद पर तैनात अगर उसे इश्क का भूत चढ जाऐ तो क्या हो। जी हां हम बात कर रहे है पानीपत के सरकारी स्कूल के एक प्रिंसिपल की । साहब को इश्क फरमाने का शोक चढ गया है। इश्कमिजाज प्रिंसिपल को मिड-डे मील कूक के रिक्त हुए पद पर रोजगार मांगे आई  महिला से हुआ है। मामले का भांडा तब फूटा जब महिला ने परिजनों को सारा वाक्या बताया। जिसपर परिजन भड़क गए और स्कूल में गए और प्रिंसिपल के सामने जा धमके। मौके पर पुलिस को बुला आरोपी प्रिंसिपल के खिलाफ शिकायत थी। पुलिस ने पीडिता की शिकायत पर मुक्दमा दर्ज कर जांच शुरु कर दी।


थाना शहर के अंतर्गत आने वाले एक गांव की महिला ने बताया कि गांव के सराकारी स्कूल में मिड-डे मील कूक का पद रिक्त हुआ था। करीब एक साल पहले उसके पति की सुगर की बिमारी के कारण मौत हो गई थी। वह प्रिंसिपल के पास रोजगार मांगने गई थी। महिला का कहना है कि प्रिंसिपल करीब डेढ महीने से नौकरी देने का झांसा देकर उससे मोबाइल पर बात कर था। बातों - बातों में आरोपी प्रिंसिपल महिला से प्यार की पींगे चढाने लगा। मौका मिलते ही महिला से फोन पर रोमांटिक बातें करता।महिला ने तंग आकर सारी घटना अपने परिजनों को बताई। जिससे परिजनों ने स्कूल में हंगामा किया। हंगामे के बाद आई पुलिस को पीड़िता ने 3मिनट 43 सेकेंड की रंगीले प्रिंसिपल की एक ऑडियो भी सौंपी है जिसमें प्रिसिपल महिला के साथ रोमांटिक बाते करता सुनाई दे रहा है। 

 ऑडियो में इस तरह से हुई बात
प्रिंसिपल: हैलो...बोल रही हो, घर पर हो।
महिला: हांजी सर जी,


प्रिंसिपल: और सुनाओ, घर हो, ठीक हो न।
महिला: ठीक है सर जी

प्रिंसिपल: जिस दिन ऑफिस में आए, जिस दिन आप हंसकर बोलीं, मुझे उसी दिन आप पसंद आ गईं थी।
महिला: ठीक है सर जी


प्रिंसिपल: आप 101 परसैंट मेरी पसंद हो।
महिला: आपके सामने तो वो प्रधान आई थी, वो भी तो हंस रही थी।


प्रिंसिपल: उसका क्या है? हंसने का आपका तरीका अलग था, मैं सिर्फ आपकी मानता हूं, जो आप कहोगे, वैसा ही चलेगा, वैसे वो कौन थी?
महिला: मेरी रिश्तेदार थी


प्रिंसिपल: नौकरी की कल चिट्ठी भेजकर करवा लूं, फिर
महिला: हांजी सर जी

प्रिंसिपल: जब आपका मेरा मन ही मिल गया है तो हम आपस में कह सकते हैं ना।
महिला: जी सर जी


प्रिंसिपल: पर, शर्त ये है कि ना आप मेरी बात किसी को कहना, ना मैं कहूंगा
महिला: जी


प्रिंसिपल: कसम है, वादा है, कसम है मेरी
महिला: जी


प्रिंसिपल: एक अन्य गरीब महिला भी नौकरी के लिए आई थी, लेकिन मैंने उसे नहीं लगाया
महिला: ठीक है जी


प्रिंसिपल: फिर मैं एक कमरा लेना चाहता हूं, बताओ अंसल में लू या फिर कहीं ओर...
महिला: रुको सर जी


प्रिंसिपल: क्या हुआ?
महिला: मुझे लगता है कि मुझे कोई आवाज लगा रहा है, दरवाजे पर
प्रिंसिपल: ठीक है ठीक है।

Post a Comment

0 Comments