Advertisements

पर्यावरण संरक्षण के 700 से अधिक सलोगन वाली 'झड़ते पत्ते' पुस्तक का राज्यपाल ने किया लोकार्पण







Chandigarh, 20 Sep, 2018 NewsRoots18
चंडीगढ़ राजभवन हरियाणा में  माननीय महामहिम राज्यपाल सत्य देव नारायण आर्य ने डा0 संजीव कुमारी वजीरपुर टीटाणा की पुस्तक  'झड़ते पत्ते' का लोकार्पण किया गया। यह अपने आप में एक अनोखी तरह की पुस्तक है,  इसमें कोई कथा कहानी या कविताएं नहीं बल्कि पर्यावरण संरक्षण व जागरुकता हेतु 700 से  अधिक सलोगन हैं। यह पहली इस प्रकार की  सतसई है  जो पूर्णतः पर्यावरण पर आधारित है। इसमें स्लोगन के माध्यम से पर्यावरण, प्रदूषण, ग्लोबल वारमिंग,एसिड़ रेन, जनसंख्या वृद्धि जैसी तमाम समस्याएं क्या हैं। इन पर कैसे नियंत्रण किया जा सकता है। 

" बंद कमरे में मेरी सांस घुटी  जाती है,  खिड़कियां खोलूं तो जहरीली हवा आती है " लेखिका डा0 संजीव कुमारी का शोधकार्य जैविक खेती पर रहा है । इस लिए पुस्तक के तीसरे हिस्से में  किसानों को जहरमुक्त खेती के बारे में बताने का प्रयास किया गया है।


 "किसान अपनाए ये सूत्र, खेत में प्रयोग करें गोमूत्र "।


इससे पहले भी लेखिका की चार पुस्तकें प्रकाशित हैं। हरियाणा सरकार द्वारा पर्यावरण संरक्षण के लिए राज्य स्तरीय पुरस्कार से सम्मानित हैं।120 पन्नों  की इस पुस्तक में  लेखिका ने पर्यावरण के हर मुद्दे को समेटने की  कोशिश की है। इसकी उपयोगिता का प्रमाण महामहिम राज्यपाल द्वारा लोकार्पण है।  इस अवसर पर राजभवन के स्टाफ सहित सानवी छौक्कर, बनवारी लाल बटार ढाणी पाल ,  अनिल गुर्जर बड़सी,  इन्द्रपाल नरवाल व  सुरेंद्र कुमार सहित अन्य उपस्थित रहे।

Post a Comment

0 Comments