Advertisements

पोप फ्रांसिस ने फ्रेंको मुलक्कल को बिशप पद से अस्थायी तौर पर कार्यमुक्त किया





jalandhar, 20 Sep, 2018 NewsRoots18
पंजाब के जालंधर स्थित मिशनरीज आॅफ जीसस कैथोलिक धर्मप्रदेश के बिशप फ्रेंको मुलक्कल को पोप फ्रांसिस ने अस्थायी रूप से कार्यमुक्त कर दिया है। कैथोलिक बिशप कान्फ्रेंस आॅफ इंडिया ने गुरूवार को यह जानकारी दी। मुबई के सहायक बिशप एमेरिटस एग्नेलो रूफिनो ग्रेसियस जालंधर धर्मप्रदेश के बिशप का कार्यभार संभालेंगे। 

फ्रेंको   मुलक्कल ने अपने स्थान पर बिशप पद की जिम्मेदारी संभालने के लिए मैथ्यू कोकनडम को मनोनीत किया था। लेकिन पोप फ्रांसिस ने कार्यवाहक बिशप मुबई से नियुक्त किया है। 

केरल पुलिस ने जालंधर धर्मप्रदेश में कार्यरत रही नन द्वारा लगाए गए बलात्कार के आरोपों के सिलसिले में फ्रेंको मुलक्कल से गुरूवार को दूसरे दिन भी पूछताछ की। एसआईटी ने पूछताछ का सिलसिला दूसरे दिन जारी रखा। केरल के पुलिस प्रमुख का कहना है कि  फ्रेंको   मुलक्कल की गिरफ्तारी का फैसला आगामी एक-दो दिन में कर लिया जाएगा। मुलक्कल के एसआईटी के समक्ष उपस्थित होने के कुछ घंटों बाद पुलिस महानिदेशक लोकनाथ बेहेरा ने कहा कि जांच पूरी होने पर जांच अधिकारी तय करेंगे कि क्या गिरफ्तारी की जरूरत है। 


तिरूवनन्तपुरम में लोकनाथ बेहेरा ने कहा कि जांच पूरी होने के बाद ही गिरफ्तारी का फैसला किया जाएगा। अभी जांच पूरी होने का इंतजार करना होगा। पूछताछ पूरी होने पर कल तक कोई फैसला कर लिया जाएगा। जांच अधिकारी गिरफ्तारी का फैसला करने के लिए स्वतंत्र है। आगामी 25 सितम्बर को हाईकोर्ट में  फ्रेंको   मुलक्कल की अग्रिम जमानत अर्जी पर सुनवाई होना है और इस सवाल पर कि क्या फें्रको मुलक्कल को इससे पहले गिरफ्तार किया जा सकता है,बेहेरा ने कहा कि कानूनी तौर पर इसमें कोई बाधा नहीं है। ऐसा कोई कानून नहीं है जो कि अग्रिम जमानत याचिका के लम्बित रहते गिरफ्ताी से रोकता हो। 


 उधर आल इंडिया यूथ फेडरेशन ने  फ्रेंको   मुलक्कल की गिरफ्तारी की मांग को लेकर प्रदर्शन किया है। कुछ लोगों ने मुलक्कल का पुतला भी जलाया। नन ने  फ्रेंको   मुलक्कल पर वर्ष 2014 से 2016 के बीच बलात्कार का आरोप लगाया था। कोच्चि के वांची चैक पर कैथोलिक सुधारवादी संगठनों व ननों के एक समूह ने मुलक्कल की गिरफ्तारी की मांग को लेकर प्रदर्शन किए। 

Post a Comment

0 Comments