Advertisements

हरियाणा के किसी हिस्से में जल भराव से फसल नहीं होगी खराब- अभिमन्यु







Jind, 06 Oct,2018 NewsRoots18
हरियाणा के कई हिस्सो सालों से बरसात के कारण जल भराव से हर साल सैंकड़ो एकड़ फसल बर्बाद हो जाती है। हरियाणा सरकार जल भराव से फसल बर्बाद का ठोस समाधान निकालने में लगी है। वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि प्रदेश के कई इलाकों में अधिक बारिश होने के कारण जलभराव हो जाता है, जिससे हर वर्ष सैंकड़ों एकड़ जमीन पर खड़ी फसल बर्बाद हो जाती है, भविष्य में इस तरह की स्थिति न बने, इसके लिए पूरे प्रदेश से बरसाती पानी निकासी के लिए स्थाई व्यवस्था की जायेगी। 

शनिवार को जींद में में कैप्टन ने कहा कि जलभराव क्षेत्रों से पानी निकासी करने के लिए सरकार द्वारा ठोस कदम उठाये जा रहे है। आगामी दस दिनों में सभी जलभराव क्षेत्रों से पानी निकासी करवा दी जायेगी और जिन क्षेत्रों में जलभराव हुआ है, उन क्षेत्रों में हर हाल में गेंहू की बिजाई करवाई जायेगी। उन्होंने कहा कि बारिश से हुए फसल खराबे का मुआवजा उन किसानों को भी दिया जायेगा, जिन्होंने अपनी फसल का बीमा नहीं करवाया था।
 
उन्होंने कहा कि राज्य स्तरीय बाढ़ नियन्त्रण बैठक अब तक साल के जून माह में आयोजित होती रही है, लेकिन अब यह बैठक मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में दिसम्बर माह में भी आयोजित हुआ करेगी ताकि बरसाती मौसम शुरू होने से पहले बाढ़ जैसे हालातों से निपटने के लिए तमाम प्रकार के प्रबंधन पूरे किये जा सके। उन्होंने कहा कि जुलाना खण्ड के शामलों गांव स्थित पानी निकासी के पम्प सैट की क्षमता को बढ़ाया जायेगा।  

वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि मुख्यमंत्री ने जींद शहर की स्वच्छ पेयजल आपूर्ति की वर्षों पूरानी मांग को पूरा करते हुए एक बड़ी विकास परियोजना को मंजूरी प्रदान कर दी है। इस परियोजना के तहत भाखड़ा चैनल से पाईप लाईन बिछाकर नहरी आधारित पानी जींद शहर के लोगों को उपलब्ध करवाया जायेगा। पानी को स्टोरेज करने के लिए पिण्डारा गांव के पास 170 करोड़ रूपये की लागत से एक बड़ा जलघर बनाया जायेगा। इस विकास परियोजना के पूरा होने पर न केवल जींद शहर बल्कि आसपास के कई गांवों को भी स्वच्छ पेयजल आपूर्ति सुनिश्चित हो जायेगी। 

Post a Comment

0 Comments