Advertisements

नवदुर्गा रूपों में में दूसरा स्वरुप मां ब्रह्मचारिणी ज्ञानए तपस्या और वैराग्य की देवी





Chandigarh, 11 Oct,2018 NewsRoots18
शारदीय नवरात्र आज पहला दिन है और इस बार पहले ही दिन मां ब्रह्मचारिणी की भी पूजा की जा रही है। मां के नवदुर्गा रूपों में में दूसरा स्वरुप मां ब्रह्मचारिणी का है इनको ज्ञानए तपस्या और वैराग्य की देवी माना जाता है। कठोर साधना और ब्रह्म में लीन रहने के कारण इनको ब्रह्मचारिणी कहा गया है। 

छात्रों और तपस्वियों के लिए मां ब्रह्मचारिणी की पूजा काफी फलदायी मानी जाती है। जिनका चन्द्रमा कमजोर होए उन्हें मां ब्रह्मचारिणी की पूजा जरूर करनी चाहिये। मां ब्रह्मचारिणी की पूजा करते हुये भक्त को पीले या सफेद वस्त्र पहनने चाहिये।मां की पूजा करते हुये भक्त स्वाधिष्ठान चक्र पर ज्योति का ध्यान करें या उसी चक्र पर अर्ध चन्द्र का ध्यान करें। मां ब्रह्मचारिणी की पूजा करते हुये भक्त "ऊं ऐं नमः" का जाप करे और जलीय और फलाहार ले।

 

Post a Comment

0 Comments