Advertisements

देस्सा में देश हरियाणा, जित दूध-दही का खाणा- महामहिम




Gannaur , 17Fab,2019 NewsRoots18
रविवार को गन्नौर में चौथे तीन दिवसीय एग्री लीडरशिप समिट का समापन हुआ। समापन कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सिरकत की। राष्ट्रपति के गन्नौर पहुंचने पर हरियाणा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने  शॉल भेंटकर अभिनंदन किया। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने पगड़ी पहनाकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का स्वागत। हरियाणा के मुख्य सचिव डीएस ढेसी ने स्वागत सम्बोधन दिया।तीन दिवसीय एग्री लीडरशिप समिट समापन कार्यक्रम में वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओम प्रकाश धनखड़, महिला एवं बाल विकास मंत्री कविता जैन, सांसद रमेश कौशिक भी मौजूद रहे।




समिट में राष्ट्रपति ने अंतरराष्ट्रीय बागवानी बाजार प्रदर्शनी का अवलोकन किया। वहीं कृषि एवं किसान कल्याण विभाग, हरियाणा की उपलब्धियों को दर्शाती डॉक्यूमेंट्री फ़िल्म का प्रसारण किया गया। महामहिम ने डिजिटल किसान प्लेटफॉर्म का भी शुभारंभ किया ।डिजिटल किसान प्लेटफॉर्म से प्रदेश के किसान जुड़ेंगे। यू ट्यूब चेनल पर प्रगतिशील किसानों व विशेषज्ञों के संदेश अपलोड किये जाएंगे।

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने प्रगतिशील किसानों को हरियाणा कृषि रत्न व हरियाणा किसान रत्न अवार्ड से सम्मानित किया। हरियाणा कृषि रत्न अवार्ड के तहत एक लाख रुपए व प्रशंसा पत्र दिया गया। हरियाणा कृषि विश्विद्यालय हिसार को मिला हरियाणा किसान रत्न अवार्ड में 5 लाख की राशि के साथ प्रशंसा पत्र प्रदान किया गया।




राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने किसानों को दिया हरियाणा कृषि रत्न पुरस्कार।
1. मांगे राम, जिला यमुनानगर
2. नीतू,जिला महेंद्रगढ़
3. भूपेंद्र, जिला रेवाड़ी
4. शिवदर्शन मलिक, जिला रोहतक
5. रविन्द्र, जिला पानीपत
6. शिव शंकर, जिला हिसार
7. सतीश, जिला गुरुग्राम
8. धर्मपाल, जिला रोहतक
9. दिनेश, जिला सोनीपत
सभी किसानों को एक लाख रुपए तथा प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया गया।


हरियाणा में पहली बार हरियाणा किसान रत्न पुरस्कार(पांच लाख व प्रशस्ति पत्र)
चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय, हिसार को दिया गया। वाइस चान्सलरडॉ केपी सिंह ने माननीय राष्ट्रपति से पुरस्कार प्राप्त किया ।


  

कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ ने समिट में पहुँचे किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि
गौरव और गर्व से भरा यह पल क्योंकि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद हमारे बीच है। धनखड़ ने कहा कि किसानों की मेहनत से हरियाणा ने करिश्मा कर दिखाया है।
आईपीएल के खिलाड़ियों से अधिक कीमत के आलीशान पशुधन की यहां प्रदर्शनी हुई है। हरियाणा के तीन किसानों को पदमश्री मिला है।
एग्री लीडरशिप समिट का प्रयास, अच्छा काम करने वाले किसानों को प्राथमिकता देना है।

धनखड़ के कहा कि हम एक रास्ते पर चले, हम हरियाणा की खेती को बदलना चाहते है। पैरी अर्बन के रास्ते पर दिल्ली एनसीआर में ताजा फल-फूल-सब्जी-पॉल्ट्री-डेरी पदार्थ पहुंचा सकते है
किसानों की आमदनी प्रति एकड़ एक लाख तक पहुंचाने के लिए मनोहर सरकार काम कर रही है।


हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अपने संबोधन में पुलवामा में सीआरपीएफ के शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि किसान की आमदनी बढ़े, उपज का अधिक मूल्य मिले यही इस आयोजन का उद्देश्य है।
एग्री लीडरशिप मेला को मुख्यमंत्री ने कुम्भ के मेले की संज्ञा दी। मुख्यमंत्री  मनोहर लाल ने कहा कि कृषि क्षेत्र की चुनौतियों के समाधान पर भी काम करना होगा, छोटी होती जोत के साथ मधु मक्खी पालन, खुम्भ उत्पादन जैसे वैकल्पिक कार्यों पर भी फोकस करना होगा। हरियाणा में जल प्रबंधन पर काम करते हुए 300 में से 293 टेल पर पानी पहुंचाया है।

उन्होंने कहा कि मिट्टी के उपजाऊपन को बढ़ावा देने के लिए 45 लाख साइल हेल्थ कार्ड जारी किए, उपज की गुणवत्ता को बढ़ावा देने के लिए किसानों को जैविक खेती के प्रति जागरूक किया जा रहा है।
अंतरराष्ट्रीय बागवानी बाजार गन्नौर भी जल्द आरम्भ होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि
हरियाणा की 27 मंडिया ई नेम से जुड़ चुकी है। हरियाणा किसान कल्याण प्राधिकरण का गठन किया जायेगा।

हरियाणा तालाब प्राधिकरण का गठन किया गया जिसके तहत14 हजार तालाबों का प्रबंधन होगा। हमारी किसान के प्रति चिंता है, किसान समृद्ध होगा तो प्रदेश आगे बढ़ेगा।

  राष्ट्रपति  राम नाथ कोविंद ने कहा कि एक ओर जहां भारत के किसान देश की खाद्य सुरक्षा में योगदान देते हैं वहीं दूसरी ओर देश की सेना में हमारे जवान मुस्तैद हैं। राष्ट्रपति ने कहा कि जय जवान- जय किसान की अवधारणा हरियाणा में ही चरितार्थ होती है।

 राष्ट्रपति ने किसानों के कृषि क्षेत्र में निभाये गए दायित्वों पर किसानों व उनके परिवारों को बधाई दी। हरियाणा के लिए गर्व की बात है कि राज्य के तीन किसानों को भारत सरकार द्वारा पदम् श्री के लिए चुना गया। सफल किसानों से हम सबको प्रेरणा लेनी चाहिए।
  राष्ट्रपति ने बताया कि इस एग्री समिट में 14 देशों के किसानों की भी भागीदारी रही है।



राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने खुशी जताई कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम में भी हरियाणा की सक्रिय भूमिका है। साथ ही महिला सशक्तिकरण की दिशा में हरियाणा आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि आधुनिक तकनीकी शैली के रुप मे उभरते हुए व एजुकेशन हब के रूप में हरियाणा अपनी पहचान कायम कर रहा है। किसानों को प्ररेरित किया कि आपकी समृद्धि ही देश की समृद्धि का आधार है। हरियाणा की 65 से 70 प्रतिशत आबादी कृषि पर निर्भर है सेंट्रल पूल में 14 करोड़ क्विंटल की भागीदारी, छोटा राज्य-बड़ा योगदान है।

  राष्ट्रपति ने कहा कि प्रति व्यक्ति दुग्ध उत्पादन में हरियाणा देश में दूसरे नम्बर पर है तो वहीं विश्व को चावल उपलब्ध कराने में हरियाणा का अहम योगदान है।
राष्ट्रपति ने देस्सा में देश हरियाणा, जीत दूध-दही का खाणे वाला प्रदेश बताते हुए
किसानों को पराली के प्रबंधन को अपनाने पर बधाई भी दी

  

  राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद ने बताया कि किसानों से जुड़े विकास का उद्देश्य देश मे उत्साह पूर्वक कृषि क्षेत्र से युवा शक्ति को जोड़ना है। हरियाणा इस क्षेत्र में अपनी अग्रणी भूमिका निभा रहा है।


राष्ट्रपति ने पानी की हर बूंद का समुचित उपयोग करने के लिए माइक्रो इरीगेशन पर विशेष फोकस करने को कहा तो वही
कृषि क्षेत्र में ऐसा वातावरण बनाने का आह्वान भी किया जिससे अन्य क्षेत्र के उद्यमी भी कृषि की ओर आकर्षित हो।
परम्परागत खेती के साथ आधुनिक टेक्नोलॉजी का समन्वय करने से किसान लाभान्वित होंगे।उन्होंने कहा कि नई सोच के साथ निरन्तर इनोवेशन की आवश्यकता है, मुझे विश्वास है कि इस समिट से खेती के नए तौर तरीकों के बारे में आपको जानकारी मिली होगी। हरियाणा पूरे देश को एग्री लीडरशिप प्रदान करे।

  

Post a Comment

0 Comments