Advertisements

देश में चुनाव चल रहा है, हरियाणा में क्या चल रहा- देखिए पूरी रिपोर्ट


Chandigarh,26March2019 NewsRoots18
2019 महा रण का आगाज 10 मार्च को हो गया था। हरियाणा की 10 लोकसभा सीटों समेत कुल 543 सीटों पर 7 चरणों मे चुनाव होने है। पहले दौर की वोटिंग 11 अप्रैल को होगी। इस लिए पूरा देश महा रण में लगा हुआ है। देशभर में भाजपा, कांग्रेस समेत अन्य क्षेत्रिय दल चुनावों लगे है। लेकिन हरियाणा में 12 मई छठे चरण में चुनाव होने के कारण माहौल ठंडा है। केवल भाजपा को छोड़ सभी राजनीतिक दल घरेलू कार्यो में व्यस्त है।

हरियाणा में क्या चल रहा है
देश में चुनावी सरगर्मियों के बीच हरियाणा में राजनीतिक दलों की नब्ज तेज है। 
इनेलो
नेताओं की रातों की नींद उड़ गई है। क्योंकि सभी को ये डर सताता रहता है कि कहीं आज भी कोई विधायक कोई नेता, कार्यकर्ता पार्टी तो नहीं छोड़ गया। प्रदेश में अब तक मुख्य विपक्षी दल रहा इनेलो सुबह उठते ही लिस्ट चैक करता है कि आज किस विधायक के खिलाफ स्पीकर को डिस्क्वालिफाई के लिए लिखना है। चुनाव को छोड़ इस दिशा में काम कर रहा है कि कैसे संगठन को बचाये रखना है।

जेजेपी
हाल ही में पेड़ से टूट कर अलग हुई एक शाखा पेड़ बनने के लिए अपनी जड़ें जमाने में लगी हुई है। बड़ी तेजी से संगठन में नियुक्तियां करने में जुटी है। हर रोज किसी ना किसी प्रकोष्ठ और मोर्चे में नुक्तियों की कई सूची जारी करती रहती है।

कांग्रेस
वहीं भाजपा से पहले दस साल सत्ता में रही कांग्रेस अपनी गुटबाजी को खत्म करने में लगी हुई है। क्योंकि कांग्रेस हाईकमान को जींद उपचुनाव के बाद ये समझ आ गया है कि वर्तमान हालात में एक सीट जीतना भी राई का पहाड़ बनाने के बराबर है। इस लिए कांग्रेस समन्वय समिति के माध्यम से गुटबाजी खत्म करने में लगी है। 

बसपा और लोसुपा
वहीं बसपा इनेलो से गठबंधन तोड़ भाजपा के बागी सांसद राजकुमार सैनी की लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी से गठबंधन कर नो हाथ की सोड में ये समझ कर सो गई कि लोकतंत्र और देश दोनों बच गए हैं।

भाजपा
भाजपा की अगर बात करे तो आज के समय भाजपा प्रदेश की जनता के साथ - साथ सभी पार्टियों के जज्बात से खेल रही है। भाजपा जिन्ह पार्टियों को गुंडों, लुटेलो, बिल्डरों, जमीनों के सौदागरों की पार्टी कहती थी बड़े जोर सोर से उन पार्टियों के सिपाहियों को अपनी सेना में भर्ती करने में लगी हुई है। यूं धड़ल्ले से लोगों को शामिल करना भाजपा को भारी पड़ सकता है। इससे लोगों के मन में ये सवाल खड़ा होता है कि कल तक भाजपा भला बुरा बताती थी क्या भाजपा में आने से दूध के धुले हो गये है। जब भाजपा चुनाव में जाएगी जनता ऐसे सैंकड़ों सवाल लिए खड़ी मिलेगी।

आप खोज रही है किसी का साथ

Post a Comment

0 Comments