Advertisements

क्या चुनाव के बाद बदल जाएगा हरियाणा सरकार का कैलेंडर ?


Chandigarh,15March2019 NewsRoots18
लोकसभा चुनाव का बिगुल बज गया है। 543 सीटों पर सात चरणों मे चुनाव होंगे। हरियाणा में 12 मई को छठे चरण में वोटिंग होगी। 23 मई को जनता के आदेश पर प्रधानमंत्री कुर्सी पर बैठेंगे। ऐसे में 23 मई को भाजपा या एनडीए को बहुमत मिलता है तो कोई दो रॉय नहीं की नरेंद्र मोदी ही प्रधानमंत्री बनेंगे। भारतीय जनता पार्टी नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में ही चुनाव लड़ रही है। अगर मोदी प्रधानमंत्री बने तो हरियाणा के करीब 28 लाख रुपये की बचत होगी। वहीं दूसरी ओर कांग्रेस या मोदी के खिलाफ महागठबंधन की सरकार बनी तो देश को नया प्रधानमंत्री मिलेगा। हरियाणा के कैलेंडर पर लगी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फ़ोटो के कारण नया कैलेंडर प्रिंट करवाया जाएगा। ऐसे में हरियाणा के प्रधानमंत्री मोदी की फ़ोटो वाले कैलेंडर रद्दी हो जाएंगे।

हरियाणा में छपते है सवालाख कैलेंडर
हरियाणा सरकार हर वर्ष करीब सवालाख सरकारी कैलेंडर छपवाती है। एक कैलेंडर की छपाई में 18 से 20 रुपये का खर्च आता है। वहीं कैलेंडर के ऊपर और नीचे के हिस्से में लगने वाली लौहे की पत्ती पर ढाई से तीन रुपये  खर्च होते है। हरियाणा सरकार कुल मिलाकर सवालाख कैलेंडर पर हर साल करीब 28 लाख रुपये खर्च करती है।

कैलेंडर पर नहीं लगनी चाहिए फ़ोटो?

हरियाणा सरकार के कैलेंडर पर चार फ़ोटो छपती है। महामहिम राष्ट्रपति,प्रधानमंत्री, राज्यपाल और प्रदेश के मुख्यमंत्री की, ऐसे में इन चारों में से कोई भी चेहरा बदलता है तो कैलेंडर भी बदलेगा। 23 मई को लोकसभा चुनाव के परिणाम आएंगे अगर भाजपा को बहुमत मिलता है तो हरियाणा सरकार के कैलेंडर बदलने का खतरा टल जायेगा लेकिन कुछ समय बाद हरियाणा में विधानसभा के भी चुनाव होने है। ऐसे में हरियामा का कैलेंडर बदलने का खतार बना रहेगा।

पंजाब सरकार के कैलेंडर पर मुख्यमंत्री की फोटो नहीं
हांलाकि हरियाणा के पड़ोसी राज्य पंजाब में कांग्रेस की सरकार है वहां के सरकारी कैलेंडर पर मुख्यंमंत्री या प्रधानमंत्री की फोटो नहीं बल्कि धार्मिक स्थलों की फोटो है। वहीं एक और पड़ोसी राज्य हिमाचल वहां भी भाजपा की सरकार है और सरकारी कैलेंडर पर राज्यपाल और मुख्यमंत्री की फोटों है। क्या ऐसा संभव नहीं हो सकता की सरकारी कैलेंडर पर मुख्यमंत्री की फोटो ना होकर प्रदेश के धार्मिक स्थलों या अन्य फोटो लगाये जाये। खबर के कमेंट बॉक्स में अपना सुझाव दें।

Post a Comment

1 Comments

  1. Calander me sarkaar ki jaruri website or janhit ki yojnaye honi chahiye jisse dekhne walo ko bhi wo bilkul yaad ho jaye

    ReplyDelete