Advertisements

मोदी की सच की आड़ में झूठ बोलने की कला

देखिये पुरा वीडियो
Chandigarh,31March2019 NewsRoots18
देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जब बोलते है तो पुरा देश थम सा जाता है। पक्ष से लेकर विपक्ष के नेता या फिर जनता ऐका एक मोदी के लच्छेदार भाषण में मंत्र मूग्ध हो जाती है। उस समय मोदी की सारी बाते ना केवल अच्छी बल्कि सच्ची भी लगती है। ये विरोधी भी मानते है कि बोलने के मामले में मोदी का कोई मुकाबला नहीं है। मोदी के चाहने वाले भी अक्सर चर्चा करते है कि मोदी कभी भी कागज देखकर नहीं बोलते बड़े से बड़े फेक्ट  और जानकारी उनको जुबानी याद रहते है। लेकिन जब मोदी बोलते - बोलते पुरी सफाई से झूठ बोल जाते है।  मोदी के झूठ बोलने वाला एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें प्रधानमंत्री मोदी बोलते - बोलते आधा झूठ बोल जाते है।

वीडियो में बीजेपी नेताओ के चुनाव हारने और ईवीएम को दोष ना देने की बात
सोशल मीडिया पर वायरल एक टीवी चैनल की वीडियो क्लिप में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 1984 के लोकसभा चुनाव में भाजपा के ब़ड़े नेताओं यहां तक कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के चुनाव हाने की बात कह रहे  है। मोदी साथ ही बीजेपी के नेताओं के चुनाव हारने के बाद ईवीएम को दोष ना देनी की भी बात कह रहे है।

अटल बिहारी के समेंत बीजेपी नेताओं के चुनाव हारने की बात सच 
सोशल मीडिया पर वायरल नरेन्द्र मोदी की वीडियो में मोदी का 1984 के चुनाव में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी समेत बड़े नेताओं के चुनाव हारने की बात सच है। 1984 के चुनाव में लोकसभा की 543 सीटों में से बीजेपी महज 2 सीट ही जीत सकी थी। 404 सीटों पर कांग्रेस के उमिदवार जीत कर आये थे। अटल बिहारी वाजपेयी समेत भाजपा के तमाम बड़े नेता चुनाव हार गये थे। चुनाव हारने वालों में से कई नेता आगे चलकर प्रधानमंत्री,मुख्यमंत्री,राज्यपाल,केन्द्रीय मंत्री के पद पर भी रहे। ग्वालियर से अटल बिहारी वाजपेयी, अलमोड़ा से मुरली मनोहर जोशी, रायपुर से बीजेपी के वरिष्ट नेता रमेश बैंस, नोर्थ इस्ट मुम्बई से प्रमोद महाजन और मुम्बई नोर्थ वैस्ट से कांग्रेस नेता सुनील दत्त से रामजेठ मलानी सरीखे नेता चुनाव हार गये थे।


1984 के चुनाव में एक नहीं भविष्य के दो प्रधानमंत्री चुनाव हारे
प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की मौत के बाद लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की जबरदस्त लहर थी। भाजपा के सारे नेता चुनाव हार गये। ग्वालियर लोकसभा सीट से अटल बिहारी वाजपेयी माधव राव सिंधीया से पोने दो लाख वोटों से हार गये। वहीं दूसरी ओर आंध्रप्रदेश की एक सीट पर भाजपा उमीदवार ने नरसीमा राव को चुनाव हराया। आगे चलकर दोनो ही नेता प्रधानमंत्री बने।

वीडियो में मोदी की ईवीएम को दोष ना देने वाली बात झूठ
सोशल मीडिया पर वायरल नरेन्द्र मोदी चुनाव हारने के बाद ईवीएम को दोष नहीं देने की बात कह रहे है। जोकी झूठ है।  ईवीएम का पहली बार इस्तेमाल केरल की परुर विधानसभा के 50 मतदान केन्द्रों पर किया गया था। 1983 में चुनावों में ईवीएम के इस्तेमाल पर वैधानिकता को लेकर  हाईकोर्ट के आदेश के बाद रोक लग गई। उसके बाद ईवीएम का इस्तेमाल चुनावों 1998 में किया गया था। यानि मोदी दी सच के साथ - साथ झूठ को भी सरका गये।

Post a Comment

0 Comments