Advertisements

कांग्रेस भी भाजपा की राह पर चल झूठे सपने बेचने में लगी-केसी बांगड़


Chandigarh,02April2019 NewsRoots18
कांग्रेस के घोषणापत्र पर जननायक जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव डॉ केसी बांगड़ ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि अब फिर से कांग्रेस भी भाजपा की राह पर चल कर आम जनता को सपने बेचने का काम कर रही है। कांग्रेस द्वारा की गई घोषणाओं में तथ्य कम और मिथ्या ज्यादा है। यह साफ़ नज़र आ रहा है कि कांग्रेस येन.केन.प्रकारेण सत्ता में लौटना चाहती हैए भले ही उसके लिए पार्टी को आम जनता से छल ही क्यों न करना पड़े। डॉ बांगड़ ने कांग्रेस द्वारा 72000 रुपए सलाना की मदद की घोषणा को अव्यवहारिक बताते हुए कहा कि इसके लिए मजबूत अर्थव्यवस्था की जरूरत होगी जिससे देश की एक चौथाई जनसंख्या को इतनी बड़ी राशि दी जा सकेए ऐसे में कांग्रेस इस घोषणा के लिए कोई आर्थिक आधार पेश नहीं कर पा रही। डॉ बांगड़ का मानना है कि यह कोरा छलावा है। उन्होंने कहा कि जिस तरह बीजेपी ने काला धन लाकर 15 लाख देने का झूठा वादा किया थाए ठीक उसी तरह जनता को भ्रमित करने के लिए कांग्रेस का 72 हजार रूपए देने का झूठा वादा किया है।

कांग्रेस मैनिफैस्टो में कृषि क्षेत्र के मुद्दों पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए डॉ बांगड़ ने कहा कि बहुत दुख की बात है कि कांग्रेस भी लागत पर 50 प्रतिशत के लाभ के बराबर एम एस पी देने की बात नहीं कर रही। यह ठीक वैसी ही नीति है जैसी मोदी सरकार ने किसानों के साथ अपनाई और जब किसान मोदी सरकार की एम एस पी नीति से खुश नहीं तो कांग्रेस से कैसे होंगे। साथ ही केसी बांगड़ ने पूछा कि घोषणा पत्र में कांग्रेस ने स्वामी नाथन आयोग की रिपोर्ट की सिफारिशों को लागू करने को लेकर चुप्पी क्यों साध रखी है इस पर वे अपना रूख स्पष्ट करें। उन्होंने कहा कि इससे साफ जाहिर होता है कि कांग्रेस को किसानों की बिल्कुल चिंता नहीं है। क्योंकि किसानों के सबसे मुद्दों को कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र से दूर रखा है।   

उन्होंने कहा कि रोजगार के दावों और उद्योगों के बारे में मैनिफेस्टो में कुछ स्पष्ट नीति न होने से यह साफ है कि कांग्रेस आज भी युवाओं को केवल मनरेगा तक ही सीमित रखना चाहती है। जिससे युवाओं का मनोबल टूटेगा। राहुल गाँधी को वास्तव में बेरोजगारी की स्थिति का अनुमान नहीं है और उनके भाषणों की तरह यह दावा भी खोखला और हवा हवाई ही नज़र आता है। डॉ बांगड़ ने कहा कि दरअसल आज के युवाओं में बेरोजगारी वर्तमान कांग्रेस और भाजपा के पिछले 15 सालों के कुशासन का नतीजा है।

धारा 370 और देश द्रोह जैसे मुद्दों पर कांग्रेस का आम जनमानस की भावना से विपरीत रवैया अपनाना यह जताता है कि उन्हें देश से ज्यादा वोट्स की फिक्र है। ऐसे गम्भीर मुद्दों पर राजनीतिक वादों की बजाय संसदीय प्रणाली पर विश्वास करना चाहिए।

Post a Comment

0 Comments