Advertisements

आप ऐसे ले पाएंगे केसर की महक और मुनाफा


 
कैसे करें केसर की खेती, कितना है मुनाफा- देखें वीडियों
Chandigarh,09April2019 NewsRoots18
कश्मीर का नाम आते ही जहन में केसर की महक ताजा हो आती है। कश्मीर के किसान केसर की खेती कर बड़े पैमाने पर मुनाफा कमा रहे हैं। केसर की शानदार महक की पूरी दुनिया दीवानी है, लेकिन अब केसर का मुनाफा और महक केवल कश्मीर तक सीमित नहीं रहेगी। बल्कि अब हरियाणा में भी केसर की खेती लहलहाने लगी है। इसे मुमकिन कर दिखाया है कुरुक्षेत्र जिले के अमीन गांव के अग्रणी किसान अश्विनी गोस्वामी ने। खेती में नित्य नए प्रयोग करने वाले अश्विनी गोस्वामी ने जानकारियां जुटाकर कहीं से केसर की उन्नत किस्म का बीज जुटाया और उसकी अपने खेत में बिजाई कर दी। अब यह केसर की फसल पूरी तरह से तैयार है। न केवल फसल लहलहा रही है बल्कि अश्वनी गोस्वामी की आंखों की चमक इस बात की गवाह है कि उन्होंने एक बड़ा कारनामा कर दिखाया है। हरियाणा की धरती केसर की खेती के लिए मुफीद नहीं मानी जाती थी, लेकिन अश्विनी गोस्वामी ने अपनी मेहनत से यह कर दिखाया। अभी परीक्षण के तौर पर उन्होंने थोड़ी जमीन पर केसर की काश्त की है, लेकिन यह प्रयोग पूरी तरह से सफल रहा और अब केसर की फसल पक कर तैयार है। लिहाजा गोस्वामी के हौसले बुलंद हैं। वह बताते हैं कि उनके मन में कुछ अलग करने के हमेशा विचार आते रहते हैं। इसलिए उन्होंने केसर की खेती के बारे में कुछ तथ्य जुटाए और उसका बीज हासिल कर लिया। उन्होंने बताया कि अक्टूबर के महीने में उन्होंने इसकी बिजाई की थी। अब अप्रैल शुरू होते ही फूल तैयार हो गए हैं। अब उसकी हार्वेस्टिंग की जाएगी। बकौल अश्विनी गोस्वामी उनके खेत में उगी केसर में वही महक है जो कश्मीर की केसर से आती है। इसकी कीमत भी करीबन 80 हजार रुपए किलो के आसपास रहती है। उन्होंने बताया कि अब वे केसर की खेती का रकबा बढ़ाएंगे और आसपास के किसानों को भी इस बारे में जागरूक करेंगे। ताकि हरियाणा के दूसरे किसान भी उन्नत कृषि के फार्मूले को अपनाकर मुनाफा कमा सकें। यह किसानों के लिए नकदी फसल का भी एक बड़ा विकल्प होगा।

न्यूज रूट्स 18 का भी उद्देश्य है कि उसके जरिए इच्छुक किसानों तक नवीनतम जानकारियां और तकनीक पहुंचे। इसलिए हम आपको अश्विनी गोस्वामी का सम्पर्क मुहैया करवा रहे हैं।
9416571881

Post a Comment

0 Comments