Advertisements

मोदी के खिलाफ इस लिए हुआ तेज बहादुर का नामांकन रद्द, जानिए अब अगला कदम क्या होगा?




Chandigarh,01May,2019 NewsRoots18
मोदी के खिलाफ वाराणसी से चुनाव लड़ रहे सपा बसपा के उम्मीदवार हरियाणा के तेज बहादुर यादव का नामांकन रद्द हो गया है। तेज बहादुर ने नामांकन रद्द होने को चुनाव आयोग की तानाशाही कर्रार दिया। सेना से बरखास्त किए जाने के बाद तेज बहादुर ने प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने का फैसला लिया था। गौरतलब है कि तेज बहादुर ने मोदी के खिलाफ पहले बतौर निर्दलीय नामांकन दाखिल किया था। लेकिन बाद में सपा बसपा गठबंधन ने तेज बहादुर को अपना उम्मीदवार बनाने का फैसला किया। जिसके बाद उन्होंने दोबारा सपा बसपा के उम्मीदवार के तौर पर दोबारा नामांकन दाखिल किया।

इस लिए हुआ नामांकन रद्द

तेज बहादुर यादव ने पहले वाराणशी से बतौर निर्दलीय नामांकन दाखिल किया था। जिसमें उन्होंने सेना से निकाले जाने की वजह भ्रष्टाचार बताई थी। दुसरे नामांकन में जो तेज बहादुर ने बतौर सपा बसाप उम्मीदवार के तौर पर दाखिल किया था उसमें उन्होंने सेना से निकाले जाने की वजह भ्रष्टाचार ना बताकर कुछ और बताई थी। दोनों नामांकन में अलग जानकारी और सेना से निकालने की वजह भ्रष्टाचार होने पर चुनाव आयोग ने तेज बहादुर को नोटिस जारी कर तथ्य प्रस्तुत करने को कहा था जोकि तेज बहादुर चुनाव आयोग के सामने पेश नहीं कर सके। भारतीय कानून के तहत भ्रष्टाचार के कारण नौकरी से निकाले जाने वाला व्यक्ति पांच साल तक चुनाव नहीं लड़ सकता, आयोग ने इस नियम के तहत तेज बहादुर का नामांकन रद्द किया।

तेज बहादुर जाऐंगे सुप्रीम कोर्ट

चुनाव आयोग द्वारा तेज बहादुर  का नामांकन रद्द करने के बाद तेज बहादुर ने कहा कि उनका नामांकन रद्द करना आयोग की तानाशाही है। तेज बहादुर ने कहा कि आयोग ने उन्हें जानाकरी लाकर देने को कहा लेकिन वे आंबानी नहीं है जो उन्हें इतने कम समय में सूचना मिल जाऐ। ऐसे में अब तेज बहादुर का कहा कहना है कि वे चुनाव आयोग के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाऐंगे  और आयोग के फैसले को चुनौती देंगे।

अब कौन होगा सपा बसपा का उम्मीदवार
वाराणशी से मोदी के खिलाफ अब सपा बसपा की उम्मीदवार सानीली यादव ही चुनाव मैदान में होंगी। तेद बहादुर यादव से पहले सपा बसपा ने सालीनी यादव को ही अपना उम्मीदवार घोषित किया था। सालिनी यादव ने अपना नामांकन भी दाखिल कर दिया था। आयोग द्वारा स्कूर्टनी में सालीनी यादव का नामांकन सही पाया गया है। ऐसे में अब देखना ये होगा कि मोदी को कितनी चुनौती दे पाएंगी।

Post a Comment

0 Comments