Advertisements

अनिल विज के गृह मंत्री बनने से पुलिस अधिकारियों में हड़कंप



Chandigarh
मनोहर मंत्री मंडल विस्तार के बाद विभागों का बटवारा होने के साथ ही पुलिस अधिकारियों में हड़कम्प मच गया है। गब्बर के नाम से मशहूर कैबिनेट मंत्री अनिल विज का पुलिस अधिकारियों के साथ छत्तीस का आंकड़ा रहा है। 

सिरसा कष्ट निवारण कमेटी की बैठक में अनिल विज से तत्कालीन एसपी संगीता कालिया विज से भिड़ गई थी। विज ने उन्हें बैठक से बाहर तक जाने को बोल दिया था। जिसका खामियाजा उन्हें तबादले से चुकाना पड़ा था। इसके बाद अनिल विज को पानीपत कष्ट निवारण कमेटी का अध्यक्ष बनाये जाने के दौरान भी संगीता कालिया ही पानीपत की एसपी थी। बतौर अधिकारी पानीपत कष्ट निवारण समिति की बैठक में भी संगीयता कालिया को मौजूद रहना था लेकिन लगातार दो बैठकों में कालिया छूटी लेकर कन्नी काट गई थी। अनिल विज ने फिर संगीता कालिया की शिकायत की और एक बार फिर कालिया का तबादला कर दिया गया। अब भला गृह मंत्री बनने का बाद अधिकारियों में इस कदर हड़कंप मचा हुआ है कि एक दूसरे को फोन कर यही पूछा जा रहा है कि कहने को तो मनोहर राज बताया जा रहा लेकिन गृह मंत्रालय में गब्बर घुसाया जा रहा है।

एक वाक्य सीआईडी कराए जाने का वाक्या भी गृह मंत्री अनिल विज के साथ ही हुआ था। जब अनिल विज ने अपने हरियाणा सचिवालय में  8वी मंजिल पर दफ्तर में उनकी सीआईडी करते हुए एक एक कर्मी को पकड़ लिया था। वैसे तो सीआईडी विभाग मुख्यमंत्री के पास होता है लेकिन जानकार बताते है कि रूल्स के हिसाब से सीआईडी विभाग गृह मंत्री होने के चलते अनिल विज के पास ही रहेगा। 

अब देखना ये होगा कि पुलिस विभाग के अधिकारी जो किसी न किस बहाने से अनिल विज से बचते रहे है। अब हो न हो उनके निर्देशों के अनुसार ही कार्य करते नजर आएंगे।

Post a Comment

0 Comments